तुलसी- निरोगी जीवन के लिए रोज़ाना | www.dharmapravah.com
Tuesday, 25/6/2019 | 1:26 UTC+0
www.dharmapravah.com
तुलसी- निरोगी जीवन के लिए रोज़ाना

तुलसी- निरोगी जीवन के लिए रोज़ाना

तुलसी- निरोगी जीवन के लिए रोज़ाना
It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn
तुलसी मुख्य रूप से पांच प्रकार के पायी जाती है! श्याम तुलसी, राम तुलसी, श्वेत/विश्नू तुलसी, वन तुलसी, और नींबू तुलसी।
इन पांच प्रकार की तुलसी विधि द्वारा अर्क निकाल कर अधिकतर पंचतुलसी का निर्माण किया जाता है।
यह संसार की एक बेहतरीन
एंटी-ऑक्सीडेंट,
एंटी- बैक्टीरियल,
एंटी- वायरल,
एंटी- फ्लू,
एंटी- बायोटिक,
एंटी-इफ्लेमेन्ट्री व
एंटी–डिजीज है।
जानिये पंचतुलसी के अदभुत फायदे
(1). पंचतुलसी के 2 बून्द एक ग्लास पानी में या 5 बून्द एक लीटर पानी में डाल कर पांच मिनट के बाद उस जल को पीना चाहिए। इससे पेयजल विष और रोगाणुओं से मुक्त होकर स्वास्थवर्धक पेय हो जाता है।
(2). पंचतुलसी 200 से अधिक रोगो में लाभदायक है, जैसे फ्लू , स्वाइन फ्लू, डेंगू, जुखाम, खासी, प्लेग, मलेरिया, जोड़ो का दर्द, मोटापा, ब्लड प्रेशर, शुगर, एलर्जी, पेट के कीड़ो, हेपेटाइटिस, जलन, मूत्र सम्बन्धी रोग, गठिया, दम, मरोड़, बवासीर, अतिसार, आँख का दर्द, दाद खाज खुजली, सर दर्द, पायरिया नकसीर, फेफड़ो सूजन, अल्सर, वीर्य की कमी, हार्ट ब्लोकेज आदि।
(3). पंचतुलसी एक बेहतरीन विष नाशक तथा शरीर के विष (toxins) को बाहर निकलती है।
(4). पंचतुलसी स्मरण शक्ति को बढ़ाता है।
(5). पंचतुलसी शरीर के लाल रक्त सेल्स (RBC) (Haemoglobin) को बढ़ने में अत्यंत सहायक है।
(6). पंचतुलसी भोजन के बाद एक बूँद सेवन करने से पेट सम्बन्धी बीमारियां बहुत कम लगती है।
(7). पंचतुलसी अर्क के 4–5 बूँदे पीने से महिलाओ को गर्भावस्था में बार बार होने वाली उल्टी की शिकायत ठीक हो जाती है।
(8). आग के जलने व किसी जहरीले कीड़े के कांटने से तुलसी अर्क को लगाने से विशेष राहत मिलती है।
(9). दमा व खाँसी में तुलसी के दो बुँदे थोड़े से अदरक के रस तथा शहद के साथ मिलाकर सुबह – दोपहर – शाम सेवन करे।
(10). यदि मुँह में से किसी प्रकार की दुर्गन्ध आती हो तो तुलसी अर्क की एक बूँद मुँह में डाल लें, दुर्गन्ध तुरंत दूर हो जाएगी।
(11) दांत का दर्द, दांत में कीड़ा लगना, मसूड़ों में खून आना इत्यादि में तुलसी की 4–5 बूँदे पानी में डालकर कुल्ला करना चाहिए।
(12) कान का दर्द, कण का बहना, तुलसी अर्क हल्का गरम करके एक -एक बूंद कान में टपकाने से आराम मिलेगा।
(13) नाक में पिनूस रोग हट जाता है, इसके अतिरिक्त फोड़े–फुंसिया भी निकल आती है, दोनों रोगो में बहुत तकलीफ होती है I तुलसी अर्क को हल्का सा गरम करके एक–एक बूंद नाक में टपकाएं।
(13). गले में दर्द, गले व मुँह में छाले, आवाज़ बैठ जाना:
तुलसी अर्क की 4–5 बूँदे गरम पानी में डालकर कुल्ला करना चाहिए।
(14). सर दर्द, बाल क्हाड्णा, बाल सफ़ेद होना व सिकरी की समस्या में तुलसी अर्क की 8-10 बूंदे हर्बल हेयर आयल के साथ मिलाकर सर, माथे तथा कनपटियो पर लगाये।
(15). तुलसी अर्क की 8–10 बूँदे मिलकर शरीर में मलकर रात्रि में सोये, मच्छर नहीं काटेंगे।
16) कूलर के पानी में गुरु तुलसी के 8–10 बूँदे डालने से सारा घर विषाणु और रोगाणु से मुक्त हो जाता है, तथा मक्खी-मच्छर भी घर से भाग जाते है।
(17). जुएं व लीखों की समस्या में तुलसी और नीबू का रस समान मात्रा में मिलाकर सर के बालो में अच्छे तरह से लगाये। 3–4 घंटे तक लगा रहने दे। और फिर धोये अथवा रात्रि को लगाकर सुबह सर धोए। जुएं व लिखे मर जाएगी।
(18). त्वचा की समस्या में निम्बू रस के साथ तुलसी के 4–5 बूँदे डालकर प्रयोग करे।
(19). तुलसी में सुन्दर और निरोग बनाने की शक्ति है। यह त्वचा का कायाकल्प कर देती है I यह शरीर के खून को साफ करके शरीर को चमकीला बनती है।
(20). तुलसी अर्क की दो बूँदे एलो जैल क्रीम में मिलाकर चेहरे पर सुबह व रात को सोते समय लगाने पर त्वचा सुन्दर व कोमल हो जाती है तथा चेहरे से प्रत्येक प्रकार के काले धेरे, छाइयां, कील मुँहासे व झुरिया नष्ट हो जाती है।
21) सफ़ेद दाग :
10 मि.लि. तेल व नारियल के तेल में 20 बूँदें तुलसी अर्क की मिलाकर सुबह व रात सोने से पहले अच्छी तरह से मले।
(22). तुलसी अर्क के नियमित उपयोग से कोलेस्ट्रोल का स्तर कम होने लगता है, रक्त के थक्के जमने कम हो जाते है व हार्ट अटैक और कोलैस्ट्रोल की रोकथाम हो जाती है।
(23). तुलसी अर्क की कुछ बूंदों को किसी भी अच्छी क्रीम में मिला कर लगाने से प्रसव के बाद पेट पर बनने वाले लाइने (स्ट्रेच मार्क्स) दूर हो जाते है।
print

POST YOUR COMMENTS

Your email address will not be published. Required fields are marked *

089109
Users Today : 15
Users Yesterday : 214
This Month : 9217
This Year : 80211
Total Users : 89109
loading...

Contact Us

Email: pravahdharma@gmail.com

Phone: +91 8824877593

Fax: Whatsapp +91 9929038844

Address: Jaipur